Showing posts with label Women Health Tips. Show all posts
Showing posts with label Women Health Tips. Show all posts

Thursday, October 25, 2018

Periods ke samay heavy bleeding hone ke karan - पीरियड्स के समय हैवी ब्लीडिंग होने के कारण

आज की पोस्ट थोड़ा मेरी उन बहनों के लिए है जो पीरियड्स के समय Heavy Bleeding का सामना करती है। कुछ महिलाओं को पीरियड्स के दौरान ज्‍यादा ब्‍लीडिंग होती है, इससे उन्‍हे काफी दिक्‍कत होती है, इस समस्‍या को मेडिकल लैंग्‍वज में मेनोर्रहाजिया कहा जाता है। कभी - कभी पीरियड्स के दौरान ज्‍यादा ब्‍लीडिंग होना सामान्‍य है लेकिन अगर ऐसा हर महीने होता है तो आपको उसे इग्‍नोर नहीं करना चाहिए। ज्‍यादा ब्‍लीडिंग होने का पता पूरे दिन में इस्‍तेमाल किए जाने वाले पैड से पता लगाया जा सकता है। मेनोर्रहाजिया से पीडि़त महिला को लगभग हर घंटे में पैड या टैम्‍पोन बदलने की आवश्‍यकता पड़ती है और पूरे सप्‍ताह में उसे बहुत ज्‍यादा ब्‍लीडिंग होती है। इसलिए Heavy Bleeding के कारण बहुत से दिक्कत होती है। लकिन शायद मेरी उन बहनो के Heavy Bleeding होने की वजह का ठीक से नहीं पता होगा।  आज की पोस्ट में उनकी इस प्रॉब्लम को देखते हुए लिख रही हूँ। 

Periods-ke-samay-heavy-bleeding-hone-ke-karan

नीचे दिए गए कुछ कारण  "Periods ke samay heavy bleeding hone ke karan" हो सकते है :-

1.  ब्‍लीडिंग डिसआर्डर
ब्‍लीडिंग डिस्‍आर्डर के अंर्तगत खून के थक्‍के जमने के कारण ज्‍यादा मात्रा में ब्‍लीडिंग होती है। राष्‍ट्रीय ह्दय फेफड़े और रक्‍त संस्‍थान के अनुसार, ब्‍लीडिंग डिस्‍आर्डर को वॉन विलेब्रांड बीमारी कहा जाता है। जो महिलाएं खून को पतला करने वाली दवा का सेवन करती है वह इस बीमारी से अकसर ग्रसित हो जाती है।

2.  इंट्रायूट्रिन डिवाइस ( आईयूडी ) 
अगर किसी महिला को ज्‍यादा ब्‍लीडिंग होती है तो उसे इंट्रायूट्रिन डिवाइस होने का खतरा सबसे ज्‍यादा होता है। अगर ऐसा हो, तो अन्‍य मैचों से आईयूडी कॉट्रासेप्टिव तरीके को बदल देना चाहिए।

3. एंड्रोमेट्रियल कैंसर
एंड्रोमेट्रियल कैंसर मुख्‍य रूप से 50 वर्ष से अधिक आयु वाली महिलाओं को होता है। इसके उपचार में सबसे पहले गर्भाशय को ऑपरेशन करके निकाल दिया जाता है। इस बीमारी की शिकायत होने पर तुरंत चिकित्‍सक ही सलाह लें और जल्‍द से जल्‍द उपचार करवाएं। इस प्रकार के कैंसर में कीमोथेरेपी और रेडियशन भी किया जाता है।

Periods-ke-samay-heavy-bleeding-hone-ke-karan

4. सरवाइकल कैंसर 
सरवाइकल कैंसर में गर्भाशय, असामान्‍य और नियंत्रण से बाहर हो जाता है। इसके होने से शरीर के कई हिस्‍से नष्‍ट हो जाते है। 90 प्रतिशत से ज्‍यादा सरवाइकल कैंसर, ह्यूमन पेपिलोमा वायरस के कारण होता है। इसके उपचार के दौरान मरीज की सर्जरी करके उसे कीमोथेरेपी और रेडियशन दिया जाता है, इस बीमारी का इलाज संभव है।

5. पेल्विक इंफ्लेमेट्री डिसीज ( पीआईडी ) 
यह एक प्रकार का संक्रमण होता है जो एक या एक से अधिक अंगों में हो सकता है जैसे - यूट्रस, फेलोपियन ट्यूब्‍स और सेरेविक्‍स। पीआईडी मुख्‍य रूप से सेक्‍स सम्‍बंधी संक्रमण के कारण होता है। पीआरपी ट्रीटमेंट को एंटीबॉयोटिक थेरेपी के रूप में सजेस्‍ट किया जाता है।

6. ल्‍यूपस बीमारी 
ल्‍यूपस एक प्रकार की क्रॉनिक सूजन होती है जो शरीर के विभिन्‍न हिस्‍सों जैसे - त्‍वचा, जोड़ो, खून और किड़नी आदि में हो जाती है। ऐसा माना जाता है कि यह बीमारी आनुवाशिंक गड़बड़ी के कारण होती है। वैज्ञानिकों का मानना है कि पर्यावरणीय कारक, संक्रमण, एंटीबायोटिक यूवी लाइट्स, तनाव होना, हारमोन्‍स में गड़बडी और दवाओं का ज्‍यादा सेवन इसके होने के प्रमुख कारण होते है।

7.  सरवाइकल पॉलीप्‍स 
सरवाइकल पॉलीप्‍स छोटे होते है जो सरवाइकल म्‍यूकोसा या एंडोसेरविकल कनॉल और गर्भाशय के मुहं पर हो जाते है, इनके बनने से भी पीरियड्स के दौरान ब्‍लीडिंग ज्‍यादा होती है। इनके बनने का कारण अभी तक स्‍पष्‍ट नहीं है लेकिन मेडिकल वर्ल्‍ड में इनके बनने की वजह सफाई का न होना और संक्रमण माना जाता है। इनके बनने से शरीर में एस्‍ट्रोजन की मात्रा बॉडी में असामान्‍य तरीके से बढ़ जाती है और गर्भाशय ग्रीवा में रक्‍व वाहिकाओं में रूकावट पैदा होती है जिससे ब्‍लीडिंग ज्‍यादा होती है। सरवाइकल पॉलीप्‍स से पीडित होने वाली अधिकाशत: वह महिलाएं होती है जो 20 से कम उम्र में ही मां बन जाती है। इसका इलाज संभव है।

8.  गर्भाशय में फाइबर ट्यूमर होना 
ध्‍यान दें कि गर्भाशय यानि यूट्रेस में फाइबर ट्यूमर होने से भी पीरियड्स के दौरान ज्‍यादा खून आ सकता है। ऐसा अधिकाशत: 30 या 40 की उम्र के बाद होता है। हालांकि, अभी तक गर्भाशय में फाइबर ट्यूमर होने का कारण पता नहीं चल पाया है। कुछ ऑपरेशन और इलाज के द्वारा इस ट्यूमर को गर्भाशय से निकाल दिया जाता है जैसे - मॉयमेक्‍टॉमी, एंडोमेटरियल एबलेशन, यूट्रिन आर्टरी एमबेलीजेशन और यूट्रिन बैलून थेरेपी आदि। हाइस्‍टेरेक्‍टॉमी से भी गर्भाशय का ट्यूमर निकाला जाता है। अगर एक बार मेनोपॉज शुरू हो जाता है तो ट्यूमर स्‍वत: बिना इलाज के ही छोटा होता जाता है और बाद में पूरा गायब हो जाता है।

Periods-ke-samay-heavy-bleeding-hone-ke-karan


9.  एंडोमेट्रियल पॉलीप्‍स 
एंडोमेट्रियल पॉलीप्‍स, कैंसर का प्रकार नहीं है। य‍ह सिर्फ गर्भाशय की सतह पर उभरता या पनपता है। इसके बनने का कारण भी अभी तक पता नहीं लगाया जा सका है लेकिन इसका इलाज कई विधियों से चिकित्‍सा जगत में संभव है। इसके बनने से बॉडी में एस्‍ट्रोजन या अन्‍य प्रकार के ओवेरियन ट्यूमर बन जाते है।

10.  हारमोन्‍स में असंतुलन होना 
पीरियड्स के दौरान शरीर के हारमोन्‍स में परिवर्तन होते है, यह काफी सामान्‍य है। ऐसे में किसी - किसी के शरीर में यह परिवर्तन तेजी से होते है और किसी के शरीर में बेहद सामान्‍य तरीके से। हारमोन्‍स में असामान्‍य तरीके से परिवर्तन होना भी ज्‍यादा ब्‍लीडिंग का एक कारण होता है। मेनोपॉज से एक वर्ष पहले हारमोन्‍स में सबसे ज्‍यादा असंतुलन होता है, ऐसे में ज्‍यादा ब्‍लीडिंग होना नॉमर्ल है लेकिन फिर भी अपनी गॉयनोकोलॉजिस्‍ट से सम्‍पर्क कर लें। कई बार ज्‍यादा मात्रा में गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करने से भी ऐसी समस्‍या आ जाती है।

उम्मीद करती हूँ Periods ke samay heavy bleeding hone ke karan आपको पता चल गए होंगे। किसी भी प्रकार के सवाल अथवा सुझाव के लिए आप हमे कमेंट या फिर ईमेल कर सकते है। हेल्थ व अन्य टिप्स के लिए लगातार हमारे ब्लॉग को विजिट करते रहें। हमसे जुड़े रहने के लिए धन्यवाद। 

Tuesday, October 23, 2018

How to remove unwanted hair from body in hindi - अनचाहे बालों को कैसे हटाएँ हिंदी में जाने

चेहरे, हाथ, पैर या शरीर के किसी भी हिस्से में उग आए अवांछित बालों से अब शर्माने की जरुरत नहीं है। हम बताने जा रहे हैं ऐसे कुछ कुदरती और घरेलू उपाय जिसे इस्तेमाल करने से आप हमेशा के लिए अवांछित बालों से छुटकारा पा सकते हैं। आइए जानते हैं how to remove unwanted hair from body in Hindi.

how to remove unwanted hair from body in hindi
Hair-removal-tips-in-Hindi

शरीर के अनचाहे बालों को वैक्सिंग के द्वारा दूर किया जा सकता है, पर अगर चेहरे पर अनचाहे बाल हो तो वैक्सिंग बहुत दर्दनाक ट्रीटमेंट है. वैक्सिंग ट्रीटमेंट करवाने से ज्यादातर लड़कियों को डर लगता है. लेकिन बहुत सी लड़कियां वैक्सिंग के द्वारा ही अपने चेहरे पर मौजूद अनचाहे बालों को साफ करवाती हैं. वैक्सिंग चेहरे के अनचाहे बालों से छुटकारा देता है पर इसके बहुत सारे साइड इफेक्ट होते हैं. अगर आप वैक्सिंग के साइड इफेक्ट से बचना चाहती हैं तो आज हम आपको कुछ ऐसे तरीके बताने जा रहे हैं जिनके इस्तेमाल से आप अपने चेहरे के अनचाहे बालों से छुटकारा पा सकते हैं. तो चलिए बढ़ते है आज के टॉपिक की और जो की है how to remove unwanted hair from body in hindi

1. कच्चा पपीता (Papaya for remove unwanted hair from body)
कच्चे पपीते में पापेन (Papain) नामक एंजाइम पाया जाता है। पापेन एंजाइम में बालों की जड़ों को कमजोर करने या कहें तो नष्ट करने की क्षमता होती है। यह बालों को बढ़ने से रोकता है। परमानेंट हेयर रिमूवल के कच्चा पपीता सबसे कारगर होता है। अवांछित बालों को हटाने के लिए पपीते को दो तरीकों से इस्तेमाल किया जा सकता है:-
पहला विकल्प

जरुरी सामग्री -
कच्चे पपीते का पेस्ट-1 से 2 चम्मच
हल्दी पाउडर-आधा चम्मच

कैसे करें इस्तेमाल -
पपीते को छिल कर और फिर उसे टुकड़ों में काट कर ग्राइंडर मशीन में पीस कर अच्छी तरह से पेस्ट बना लें। इस पेस्ट में अब हल्दी के पाउडर मिला लें। दोनों को मिक्स करने के बाद इस पेस्ट को चेहरे, हाथ, पैर और जहां-जहां अवांछित बाल है लगा लें। लगभग15 मिनट तक स्किन की मसाज करें। 15 मिनट के बाद पानी से चेहरे, पैर और हाथ को धो लें। इसे हफ्ते में दो बार आजमाएं। बाल हमेशा के लिए उड़ जाएंगे।

दूसरा विकल्प

जरुरी सामग्री
कच्चे पपीते का पाउडर-एक चौथाई चम्मच या पपीते का पेस्ट-एक चम्मच
हल्दी का पाउडर-एक चौथाई चम्मच
बेसन-एक चौथाई चम्मच
एलोवेरा जेल-4 चम्मच
सरसों तेल-दो चम्मच
लेवेंडर ऑयल-दो बूंद

कैसे करें इस्तेमाल
सभी सामग्री को अच्छी तरह से मिला कर गाढ़ी पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट को बाल निकलने वाले हिस्से की उलटी दिशा में लगाएं। इसे 15 से 20 मिनट तक छोड़ दें ताकि यह सूख जाए।
अब एक साफ कपड़ा लें और बालों के निकलने वाले हिस्से की उल्टी दिशा में त्वचा को कपड़े से रगड़ें। जब सारा पेस्ट निकल जाए तो त्वचा को पानी से अच्छी तरह से धो लें।
फिर हथेली में जैतून के तेल, मॉस्चराइजर और बेबी ऑयल लेकर स्किन की मसाज करें। इस विधि को हफ्ते में तीन दिन लगातार 3 महीने तक आजमाएं, काफी असरदार रहेगा।

2. पिसी सफेद मिर्च और कपूर (White Pepper and Camphor for remove unwanted hair from body
सफेद मिर्च और कपूर दोनों को त्वचा पर लगाने से जलने की अनुभूति होती है। यह आसानी से स्किन पर उग आए अवांछित बालों को निकाल देती है। यह विधि सिर्फ पैरों पर आजमाएं। कभी भूल कर भी इसे चेहरे पर न लगाएं।

जरुरी सामग्री 
सफेद मिर्च पाउडर-2 चम्मच
कपूर - 2 चम्मच
बादाम तेल-कुछ बूंदे

कैसे करें इस्तेमाल
 
सफेद मिर्च के पाउडर को कपूर के साथ मिला लें। इसमें अब बादाम का तेल मिला लें। अब इस पेस्ट को पैरों पर लगाएं। 10 से 15 मिनट तक इसे लगा रहने दें। 15 मिनट के बाद पेस्ट को पानी से धो लें। 

how to remove unwanted hair from body in hindi
how to remove unwanted hair from body in hindi

3. चने का बेसन (Besan or Gramflour for remove unwanted hair from body)
अवांछित बालों को उड़ाने के लिए पारंपरिक तरीकों में एक है चने के बेसन का इस्तेमाल। इसका उपयोग हमारे घरों में सदियों से हो रहा है।

जरुरी सामग्री
चने का बेसन-आधा कटोरी
दूध-आधा कटोरी
हल्दी का पाउडर-एक चम्मच
क्रीम-एक चम्मच (अगर स्किन ऑयली है तो इसे हटा दें)

कैसे करें इस्तेमाल
एक कटोरी में चने का बेसन लें। इसमें हल्दी का पाउडर, दूध और क्रीम मिला लें। अब इस पेस्ट को चेहरे पर लगा लें। सुनिश्चित कर लें कि पेस्ट से सारे बाल ढ़ंक गए हो। आधा घंटे तक इसे सूखने के लिए छोड़ दें और फिर आधे घंटे बाद चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें। काफी काम करता है।

4. थनाका और कुसुम तेल (Potato and Masoor Dal for remove unwanted hair from body
थनाका एक तरह का पेड़ है जिसके छाल से पाउडर निकाली जाती है। जब इस पाउडर को कुसुम तेल में मिलाया जाता है तो त्वचा पर उगे सभी अवांछित बाल हमेशा के लिए खत्म हो जाते हैं।

जरुरी सामग्री 
1. थनाका पाउडर-इतनी हो जिससे स्किन कवर हो जाए
2. कुसुम तेल-इतनी हो जिससे पेस्ट बनाए जा सके

कैसे करें इस्तेमाल 
कुसुम के तेल में थनाका के पाउडर को मिला कर पेस्ट बना लें। पेस्ट को सोते समय स्किन पर लगाएं। पूरी रात इसे लगा हुआ रहने दें। सुबह पानी से धो लें। इसे तीन महीने तक लगातार आजमाएं। अनचाहे बालों से हमेशा के लिए छुटकारा मिल जाएगी। 

5. चीनी, नींबू और शहद (Sugar, Lemon and Honey for remove unwanted hair from body)
चीनी, नींबू और शहद घरेलू वैक्स की तरह काम करता है। यह आसानी से चेहरे, हाथ और पैर की बालों को निकाल देता है।

जरुरी सामग्री
चीनी-1 चम्मच
शदह-1 चम्मच
नींबू के जूस-1 चम्मच
बेसन– 1-2 चम्मच
बर्तन-1 (गर्म करने के लिए)
वैक्सिंग स्पाटुला-1 

कैसे करें इस्तेमाल
चीनी में शहद और नींबू मिला कर किसी बर्तन में गर्म करें। जब यह पेस्ट बन कर तैयार हो जाए तो इसे आग पर से उतार लें। अगर पेस्ट गाढ़ी है तो इसमें थोड़ी पानी मिला लें। अब इस पेस्ट को ठंढा होने के लिए छोड़ दें। जहां इस पेस्ट को लगानी है वहां बेसन या मकई का आटा थोड़ा छिड़क लें।
अब वैक्सिंग स्पाटुला से चेहरे, पैर और हाथ पर यह पेस्ट लगाएं। पेस्ट लगाने के तुरंत बाद स्किन को साफ कपड़े या वैक्सिंग स्ट्रीप से कवर कर लें। अब बालों के उगने की विपरीत दिशा से वैक्सिंग स्ट्रीप को खींचे। दर्द होगा मगर यह पूरी तरह से नेचुरल वैक्सिंग प्रक्रिया है।

6. अंडे का मास्क (Egg Mask for remove unwanted hair from body)
अंडे की सफेदी भी सूखती है और चेहरे पर चिपकती है। यही कारण है कि इसे मास्क के रुप में इस्तेमाल किया जाता है। अंडे के मास्क को जब चेहरे से हटाते हैं तो मास्क के साथ चेहरे पर की अवांछित बाल भी बाहर निकल आते हैं।

जरुरी सामग्री
अंडे की सफेदी-एक अंडे का
चीनी-1 चम्मच
मकई का आटा-आधा चम्मच

कैसे करें इस्तेमाल
चीनी और मकई के आटे को अंडे की सफेदी के साथ मिक्स करें। इसे तब तक गुंथे जब तक यह पेस्ट न बन जाए। अब इस अंडे के मास्क को चेहरे पर लगाएं। इसे थोड़ी देर सूखने के लिए छोड़ दें। सूखने के बाद जब कड़े हाथों से इस मास्क को निकालें। मास्क निकालते ही चेहरे के अवांछित बाल भी बाहर आ जाएंगे।

7. हल्दी (Turmeric for remove unwanted hair from body
हल्दी का इस्तेमाल उबटन लगा कर सदियों से त्वचा को चमकाने से लिए किया जा रहा है। हल्दी में एंटी बैक्टेरियल और एंटी इंफाल्मेटरी गुण भी होते हैं। हल्दी का इस्तेमाल अवांछित बालों को उड़ाने के लिए भी किया जाता है।

जरुरी सामग्री 
हल्दी-1 से 2 चम्मच
पानी या दूध-पेस्ट बनाने लायक

कैसे करें इस्तेमाल 
हल्दी के पाउडर को पानी या दूध में मिला कर पेस्ट बना लें। पेस्ट न तो ज्यादा गाढ़ा बनाए और न ही ज्यादा पतला। अब इस पेस्ट को चेहरे पर लगा कर 15 से 20 मिनट तक सूखने के लिए छोड़ दें। फिर चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें। यह विधि उनके लिए है जिनके चेहरे या शरीर के अन्य हिस्से पर ज्यादा बाल नहीं होते हैं। अगर बाल ज्यादा हों तो हल्दी के साथ बेसन, चावल का आटा या जौ का आटा मिलाया जा सकता है। 


8. आलू और मसूर दाल (Potato and Lentil for remove unwanted hair from body)
आलू एक नेचुरल ब्लीचिंग एजेंट (Natural Bleaching Agent) हैं। जब आलू और मसूर के दाल को साथ में पीसकर पेस्ट बनाया जाता है तो यह हेयर रिमूवल क्रीम का काम करता है।

जरुरी सामग्री
आलू - 1 कटोरी (छिला हुआ)
मसूर दाल-1 कटोरी
शहद-1 चम्मच
नींबू के जूस-4 चम्मच 

कैसे करें इस्तेमाल
पीले मसूर के दाल को रात भर पानी में फुलने के लिए छोड़ दें। सुबह में दाल को पीस कर पेस्ट बना लें। अब छिले हुए आलू का जूस किसी कपड़े में छान कर निकाल लें। दाल के पेस्ट में शहद, नींबू और आलू के जूस को मिला लें। इस पेस्ट को चेहरे, हाथ और पैर पर लगाएं। इसे 20 मिनट तक लगा रहने दें।जब यह सूख जाए तो इसे उंगलियों से रब करें। अब इस पेस्ट को जैसे ही उखाड़ेंगे बाल भी साथ में निकल आएंगे।

9. चीनी का सिरका और नींबू (Sugar and Lemon for remove unwanted hair from body
चीनी का सिरका और नींबू एक्सफोलिएट की तरह काम करता है। 

जरुरी सामग्री 
चीनी-2 चम्मच
नींबू के जूस-2 चम्मच
पानी-10 चम्मच

कैसे करें इस्तेमाल
चीनी, नींबू के जूस और पानी को मिला लें। अब इसे चेहरे पर लगाएं। इसे चेहरे पर लगा हुआ 15 से 20 मिनट छोड़ दें। 20 मिनट के बाद चेहरे को रब करें और फिर चेहरे को पानी से धो लें।

और पढ़ें : बच्चो को कभी भी न दें ये आयुर्वेदिक दवाईयाँ 

10. चीनी और सिरका (Sugar and Vinegar for remove unwanted hair from body)
चीनी और सिरका घरेलू वैक्स की तरह काम करता है। चीनी, नींबू और शहद के घोल की तरह ही यह भी वैक्सिंग का काम करती है।

जरुरी सामग्री
चीनी-1 कप
सिरका-चीनी का घोल बनाने के लिए
नींबू का जूस-आधे नींबू का

कैसे करें इस्तेमाल
चीनी को एक कटोरी में लें माइक्रोओवेन में रख दें। अब इसके उपर सिरका डाल दें। इसे दो से तीन मिनट तक गर्म करें ताकि चीनी घुल जाए। फिर इसमें नींबू का जूस मिला लें। कुछ देर के लिए ठंढा होने के लिए छोड़ दें। ध्यान रहे कि यह थोड़ी गर्म ही रहे ताकि वैक्स किया जा सके। अब इस थोड़े गर्म घोल को हाथ और पैरों की त्वचा पर लगाएं। थोड़ी देर के बाद वैक्सिंग स्ट्रिप का इस्तेमाल कर बालों को निकाल लें।

और भी हैं कई घरेलू उपाय (Other Ingredients helpful for remove unwanted hair from body) -
  • फिटकरी और गुलाब जल 
  • केले और जौ का स्क्रब 
  • तुलसी और प्याज का पेस्ट 
  • पुदीने के पत्ते का पेस्ट
ये कुछ उपाय है , जिनकी मदद से आप  अनचाहे बालों  को हटा सकते है , उम्मीद करती  हूँ आप सभी को पोस्ट  अच्छी  लगी होगी , पोस्ट को लेकर किसी प्रकार के सवाल अथवा सुझाव के लिए आप हमे कमेंट या फिर ईमेल कर सकते है ताकि हम आपके लिए बेहतर जानकारी उपलब्ध करवा सकें। अन्य हर पर के  टिप्स पाने के लिए निरन्तर  हमसे जुड़े रहें। पोस्ट अच्छी लगे तो  शेयर जरूर करें , हमसे जुड़े रहने के लिए आप सभी का धन्यवाद।  

Monday, October 22, 2018

Women health tips in hindi - महिलाओं के लिए हेल्थ टिप्स हिंदी में

हेलो फ्रेंड्स कैसे है आप सब उम्मीद करती हूँ आप सब अच्छे होंगे। आज की पोस्ट में मैं, हम औरतों के लिए कुछ हेल्थ टिप्स  (women health tips in hindi) लेकर आयी हूँ। आज की भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में हम औरतों को फिट रहना कितना मुश्किल हो गया है।  महिलाओं के स्वास्थय को ध्यान में रखते हुए मैं ये पोस्ट लिख रही हूँ। उम्मीद करती हूँ आपको जानकारी पसंद आएगी।  महिलाओ के लिए ही नहीं बल्कि हर किसी के लिए स्वास्थय बहुत जरुरी है। तो आइये जान लेते है महिलाओ के लिए वो स्वास्थय टिप्स (women health tips in hindi) जो उनको फिट रहने में मदद करेंगे।


स्वस्थ रहने के लिए महिलाओ को निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए - (women health tips in hindi)

1. हेल्थ के अलावा महिलाओं को अपनी त्वचा का भी खास ध्यान रखना चाहिए।  बाजारू केमिकल प्रॉडक्ट्स की जगह त्वचा के लिए घरेलू नुस्खों को आजमाएं। और स्किन केयर के लिए नेचुरल चीज़ो का ही इस्तेमाल करने की कोशिश करें। क्योकि नेचुरल चीज़ो का रिजल्ट कैमिकल वाली चीज़ो से बेहतर होता है और आपको साइड-इफ़ेक्ट का खतरा भी कम रहता है।

2. खुद को हेल्दी रखने के लिए ये जरूरी नहीं है कि आप बिल्कुल ही वसायुक्त चीजों से परहेज करने लगें।  आपको कभी-कभार मनपसंद चीज खा सकती हैं लेकिन ज्यादा ना खाएं। अगर आप ज्यादा वसायुक्त चीज़ों का सेवन करेंगी तो आपका वज़न बढ़ने की सम्भावना भी बढ़ जाती है। और अधिक फैट के साथ साथ बीमारियों का भी खतरा रहता है।

3.. हर 6 महीने में डॉक्टर से अपनी बॉडी का फुल चेक-अप करवाएं इससे आप रोगों से बची रहेंगी।  कभी भी ये न सोचें के आप स्वस्थ है  तो आपको चेकअप की कोई जरुरत नहीं है, क्योकि कुछ बीमारियाँ ऐसी होती है, जिनका पता हमे उनकी शुरआत में नहीं चल पता है और बाद में वही बीमारियाँ धीरे धीरे विकराल रूप ले  लेती है। इसलिए अगर समय पर पता चल जाए तो इलाज आसानी से हो जाता है।

4. आपको चिंता करने से बचना चाहिए।  खाने में फल और सब्जियों को शामिल करें इससे आप हेल्दी तो रहेंगी ही मूड भी ठीक रहेगा। आपका चिंता करना आपकी सेहत को काफी हद तक नुक्सान पहुंचा सकता है और अनेक प्रकार की बीमारियों को बढ़ावा  दे सकता है। इसलिए हमेशा मस्त रहें और स्वस्थ रहें।

5. अगर आप डाइट पर हैं तो ध्यान रखें कि वसायुक्त चीजों से आपको परहेज करना है।  लेकिन इस चक्कर में कई बार जरूरी प्रोटीन और विटामिन युक्त चीजें भी महिलाएं नहीं खाती हैं जिससे उनको समस्या हो सकती है। इसलिए डाइट पर रहें लेकिन सेहत का भी ध्यान रखें और और खाने में ऐसी चीज़ें जरूर लें जिनसे आपको विटामिन प्रोटीन मिलता रहे।

6. स्वस्थ रहने के लिए रोजाना एक्सरसाइज बहुत जरूरी है। रोजाना 30 मिनट की एक्सरसाइज करने से आप फिट रहेंगी और ऊर्जा से भरपूर भी।  जिम जाने के बजाय पार्क में खेलना, स्विमिंग करना बेहतर रहेगा। आप चाहें तो घर पर ही हल्की excercise कर सकती हैं। योगा करना भी एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है।

7. ब्रेकफास्ट कभी भी ना भूलें, दिन की शुरुआत पोषक ब्रेकफास्ट से करें। इससे आपकी शरीर में ऊर्जा बनी रहेगी और आपको थकान महसूस नहीं होगी। क्योकि आपके शरीर को काम करने के लिए एनर्जी की जरुरत होती है, अगर आप ब्रेकफास्ट नहीं करेंगे तो अपनी बॉडी के एनर्जी को मेन्टेन नहीं कर पाएंगे। इसलिए ब्रेकफास्ट जरूर करें।

8. शरीर की कई सारी समस्याओं का हल पानी है।  अगर आप खुद को हाइड्रेट रखेंगी तो आपकी त्वचा भी दमकती रहेगी। नींबू पानी पीने से पाचनशक्ति भी सुदृढ़ होती है और अगर आपका वज़न बढ़ गया है या फिर पेट बाहर निकला है तो ,तो भी निम्बू पानी आपके लिए काफी असरदार हो सकता है।

9. महिलाओं को डाइटिंग की बहुत ज्यादा फिक्र नहीं करनी चाहिए। हेल्दी खाएं और खूब एक्सरसाइज करें। अच्छा रहेगा की आप डाइटिंग की वजह एक्सरसाइज करें जो आपको हेल्थ और फिट रखेगी।

10. शराब और स्मोकिंग का आपके शरीर पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है. अगर संभव हो तो आपको शराब और धूम्रपान पूरी तरह बंद कर देना चाहिए।

उम्मीद करती हूँ आज की पोस्ट  (women health tips in hindi) में दी गयी  जानकारी आपको पसंद आयी होगी और आप सभी की हेल्थ के लिए मददगार साबित होगी। किसी प्रकार के सवाल-जवाब अथवा सुझाव के लिए आप हमे कमेंट या फिर ईमेल कर सकते है। पोस्ट पर अपना फीडबैक जरूर दें ताकि हम आपको बेहतर जानकारी उपलब्ध करवा सकें। हमसे जुड़े रहने के लिए आप सभी का धन्यवाद। अच्छी और लाभदायक जानकारी के लिए निरंतर हमारे ब्लॉग पर विजिट करते रहिये।