Friday, October 19, 2018

Way to Make Life Happier in Hindi - जीवन में खुश रहने के आसान तरीके

हर कोई अपनी जिंदगी में खुश रहना चाहता है क्यूंकि खुश रहना हमारा जन्मजात स्वभाव है. आपने एक बच्चे को देखा होगा की वह कितना खुश रहता है. इसलिए बचपन के दिन हमारे जीवन के सबसे अच्छे दिन होते है जिंदगी में कई बार ऐसा ख्याल आता है कि काश मेरी लाइफ से सारी परेशानी ख़त्म हो जाये और जिंदगी में सिर्फ ढेर सारी खुशियाँ ही खुशियाँ रहे लेकिन रियल लाइफ में ऐसा नहीं होता है क्यूंकि हम कुछ बेकार बातो को जरुरत से ज्यादा अपनी जिंदगी में महत्व देते है. ऐसे तो हम सभी अपने लाइफ को आसान और सरल बनाने के लिए जी-तोड़ मेहनत करते है जिससे हमारे जीवन में खुशियों कि बौछार हो और हम अपने जिंदगी का पुरे तरह से आनंद उठा सके. 

और पढ़ें : ग्रुप डिसकशन टिप्स इन हिंदी 
लोग दिन भर के कड़ी मेहनत करने के बाद जानना चाहते है कि ऐसी कौन सी चीज है जो उसके लाइफ को सरल और खुशहाल बना सकता है. जिससे उनका पूरा जीवन खुशियों में हँसते हुवे कट जाये. आज मैं आपसे ऐसे ही कुछ आदतों या चीजों के बारे में बात करूँगा जिसे फॉलो करके आप अपने जीवन को खुशहाल बना सकते है.

happy life living in hindi, hindi tips for happy life

1. खुश रहने वाले हमेशा अच्छाई खोजते है-

हममें से अधिकांश लोग ऐसे होते है जो हर समय किसी न किसी बात का रोना रोते है. इसकी वजह है हमारा Negativity को जल्दी ग्रहण करना. हम बहुत जल्दी दूसरों में कमी निकालते है. लेकिन खुश रहने वाले लोग हर समय हर चीज में अच्छाई खोजने की कोशिश करते है. उनकी यही कोशिश उनको खुश रहने की वजह देते है. अगर आप खुद से एक प्रश्न पूछे की यह व्यक्ति या यह चीज क्यों अच्छा है?-तो आपका मस्तिष्क आपको ढेर सारी अच्छाई बता देगा. मान लो किसी वजह से उनका रिश्ता टूट जाता है तो वे दुःखी होने के बजाय सोचते है कि उसके भाग्य में उससे बेहतर रिश्ता होगा इसलिए ऐसा हुआ.

2 . भूल जाइये किसी ने आपका बुरा किया

हर किसी के लाइफ में जाने-अनजाने कितनी सारी बातें घटित होती है और कुछ बातें हमारे लिए बहुत दुखदायी होता है. खासकर जब किसी ने आपका बुरा किया हो या आपको नुकसान पहुंचाया हो. ऐसे पलो को बार-बार याद करके आप खुद अपने जिंदगी कि खुशियों को ग्रहण लगा रहे है. कभी 1 पल भी सोचा है कि कितना बोझ लेकर चल रहे है आप. आप हर पल तनाव महसूस करते है जब सोचते है उसने मेरे साथ बुरा किया, मेरा जिंदगी बर्बाद कर दिया. अगर आप अपने जीवन में खुश रहना चाहते है तो सभी बातो को भुला दीजिये और माफ कर दीजिये जिसने आपके साथ बुरा किया. जिस प्रकार आप खुद कि कई गलतियों को नजर अंदाज़ कर देते है एक बार सामने वाले कि गलती को भी करके देख लीजिये. यकीन मानिये मेरे दोस्त आपके जीवन में मुस्कुराहट लौट आएगी. 

और पढ़ें : किसी भी किताब को जल्दी कैसे पढ़ें 

3. दुसरो से उम्मीद नहीं रखना-

आज के समय में हमारे दुःख की सबसे बड़ी वजह यही है दुसरो से उम्मीद रखना. प्रायः हर कोई हर किसी से न जाने कितनी सारी उम्मीदे रखता है और कोई उम्मीद पूरी न हुई तो फिर दुःखी होना स्वाभाविक हो जाता है.
जैसे हम अपने दोस्तों या रिश्तेदारों से उम्मीद करते है की जरुरत पड़ने पे हमको पैसे दे और वो किसी कारण वश न दे पाए तो हमें दुःख होता है.

4. मन से डर निकल दीजिये

जीवन से खुशियाँ छीनने वालो में डर (Fear) दूसरी चीज है. आप खुद महसूस किये होंगे जब भी आपको डर लगता है उस समय आपकी खुशियाँ गायब हो जाती है. जीवन में डर-डर के जीने से कोई मतलब नहीं होता है. एक अध्ययन के अनुसार करीब 60 % लोगो को अपने जीवन में किसी न किसी प्रकार का डर है और यही कारण है वो अपने जीवन में खुश नहीं रह पा रहे है. डर कि वजह से लोग हंसना भी भूल गए है. डर के कारण हर पल एक अनजाने तनाव में जीते है जिसके कारण जीवन में हर पल उदासी छायी रहती है और खुशियाँ हमसे कोसो दूर रहती है.

5. माफ़ करना और माफ़ी मांगना जानते है-

हर किसी के जीवन में ऐसे कई मोड़ या पल आते है जिनमे हमें माफ़ करना या माफ़ी मांगने की जरुरत होती है. एक साधारण आदमी ऐसे समय में फालतू के ईगो (Ego) को अपने पास रखता है जिससे न तो वह माफ़ी मांग पाता है और न ही माफ़ कर पाता है. नतीजन बेवजह दुःखी रहता है. लेकिन खुश रहने वाले लोग माफ़ करना और माफ़ी मांगना भली-भांति जानते है. माफ़ करने या माफ़ी मांगने से उनका दिमाग को शांत रहता है और बहुत सारी उलझनों से उनको बहुत दूर रखता है और वह बहुत खुश रहते है.

6. नेकी कर दरिया में डाल-

नेकी कर दरिया में डाल कहावत अपने तो सुना ही होगा. जिसका साधारण सा मतलब है- अच्छाई करके भूल जाओ. अगर आप भी अपने जीवन में परेशान लोगो कि मदद किये है. लोगो के अच्छा किये है तो उससे जल्द- जल्द भूल जाइये. क्यूंकि ये सभी बातें बार बार सोचने या याद करने से मन में अहंकार के भाव उत्पन्न होते है जिनका सीधा असर आपके व्यव्हार पर दिखाई देने लगता है. अहंकार का भाव आपके संबंधों को भी ख़राब कर सकता है. किसी भी प्रकार के रिश्ते चाहे- पिता-पुत्र, भाई -बहन, दोस्ती-यारी और पति-पत्नी कोई भी आपके अहंकार के कारण बिखर सकता है. हमारी जीवन कि असली खुशी संबंधों से ही होता है. आप अकेले रहकर जीवन में खुश नहीं रह सकते है.

7. दूसरों पर निर्भर ना रहना

ज्यादातर लोग छोटी सी छोटी बात के लिए दूसरों पर निर्भर रहते है. हर बात पे किसी पे निर्भर रहना आपको दुःखी होने के कई कारण देते रहते है. लेकिन जो लोग दूसरों पर निर्भर होने के बजाय Self -Depended होते है वो ज्यादा खुश होते है.
उदाहरण के लिए आपको ऑफिस आने जाने के लिए अपने दोस्त पर निर्भर रहना पड़ता है और किसी कारण वश आपका दोस्त ना आये तो आपके दुखी होने की गारंटी बढ़ जाती है.

8. अकेले रहने से बचे

जीवन में अकेलापन सबसे बड़ा दुःख का कारण है. अगर आप अपने जीवन में खुशियाँ चाहते है तो अकेले रहने से बचे. आप जितना ज्यादा लोगो के साथ मिलेंगे और उनसे बातें करेंगे उतना ही आपके जीवन से उदासी दूर रहेगी. अकेले रहने से आप बाहरी दुनिया से अलग होते जाते है और धीरे-धीरे आपके अंदर हीनता कि भावना आती जाती है. Human Being होने के कारण हमें हमेशा सामाजिक होना चाहिए और लोगो से मिलते-जुलते रहना चाहिए. लोगो से मिलते जुलते रहने से नए-नए बातें सीखने को मिलती है.यही सब बातें आपको चार्ज करती रहती है और जीवन में खुशियाँ के कई बहाने लेकर आती है.

9. पसंद का काम करना-

खुश रहने के लिए पसंद का काम करना बहुत जरुरी है. आपको जो चीज अच्छी लगती है अगर वो चीज आप करेंगे तो आपके खुश रहने का ग्राफ बढ़ता ही जायेगा. अगर आप इसके उलटे बिना पसंद के काम करेंगे तो आपको छोटी बातों पे भी गुस्सा आएगा और दुखी रहना आपका स्वभाव बनते जायेगा. जैसे अगर आपको खाना बनाना पसंद है और सेफ का काम करेंगे तो आपको लोगों को खिलाने में बहुत आनंद आएगा और आपकी खुशी बढ़ती जाएगी.

10. भावनाओ को व्यक्त करें

जीवन में खुश रहना चाहते है तो जीवन में कभी भी अपने भावनाओं को मत दबाओ. आप अपनी भावनाओं को जितना दबाएंगे आप उतना ही ज्यादा परेशान रहेंगे और आपकी परेशानी आपके जीवन से खुशियाँ छीन लेगी.
अपनी भावनाओं के दबाकर रखने के परिणामस्वरुप ही आज आत्महत्या करने का ग्राफ (Graph of Suicide) बढ़ते है चला जा रहा है. भावनाओं को दबाने से विचार आप पर ही हावी हो जाता है और उससे आप रात-दिन लड़ते रहते है. आपके रातो कि नींद ख़राब हो जाती है.
आपके अंदर जो भी विचार या भावना आये जिससे आपके जीवन में उदासी आ रही है या आप उसके कारण खुश नहीं रह पा रहे है तो उसे जरूर अपने किसी दोस्त या रिश्तेदार के साथ शेयर करें. जीवन में खुशियाँ पाने के लिए कड़ी मेहनत करने के बाद भी ऊपर कि कुछ बातों के कारण हमारे जीवन से खुशियाँ ख़त्म हो जाती है. कुछ बातों का ध्यान रखिये . जीवन में खुश रहिये ( Be Happy in Life ) और मस्त रहिये.

11. रिश्तो को महत्व देते है-

आजकल लोग रिश्तो को स्वार्थवश ही आगे लेकर चल रहे है इसीकारण रिश्तो में कडुवाहट आते जा रही है जिसके कारण लोग जीवन में दुःखी रहने लगे है. खुश रहने वाला इंसान अपने रिश्तो को स्वार्थ से ऊपर रखता है. उनकी कोशिश होती है कि हर रिश्तो को बेहतर बनाये. इसके लिए वह छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखता है- जैसे बर्थडे विश करना, त्यौहारों में बधाई देना, कुछ अच्छा करने पर सच्ची तारीफ करना, हर छोटी-बड़ी ख़ुशी या दुःख में शामिल होना जैसी बातों रिश्तो में मधुरता लाती है. जैसा आप लोगों को देते है वैसा ही बदले में आपको मिलता है ढेर सारी खुशिया.

12. पॉजिटिव थॉट को ही महत्व देना-

एक अध्ययन के अनुसार हमारे दिमाग में दिनभर में कम से कम 60000 से ज्यादा विचार आते है और उनमे से ज्यादातर विचार नेगेटिव होते है और अगर हम हर नेगेटिव थॉट को लेकर चलेंगे तो खुश रहना नामुमकिन हो जायेगा. इसलिए एक खुश रहने वाला व्यक्ति केवल Positive Thought को ही सोचता है और नेगेटिव थॉट को ज्यादा देर तक रहने नहीं देता है, दिमाग में आने वाली हर विचार सही हो जरुरी नहीं है ऐसे में उस पर React करते रहने से दुखी रहते है. नकारात्मक विचारो को सच मानने से Body में Blood Pressure बढ़ जाता है और हमारे लिए Tense जैसी स्थिति निर्मित हो जाती है. लेकिन जब हम उसे नकार देते है तो हमारा Brain Relax रहता है और हम Happy.


दोस्तों जानकारी कैसी लगी, अपने सवाल और सुझाव कमेंट बॉक्स के माध्यम से जरूर दें। जानकारी अच्छी लगी तो प्लीज अपने दोस्तों को शेयर करना न भूलें। खासकर अपने किसी ऐसे फ्रेंड के साथ तो जरूर शेयर करे जो चिंता में रहता है या फिर उसको ये सब जानना जरुरी है। हमसे जुड़े रहने के लिए आप सभी का धन्यवाद। 

No comments:

Post a Comment